Jaltedeep.com

Mon12222014

Last update03:18:43 AM GMT

प्रदेश

प्रदेश

चिदम्बरम को पकड़ना बड़ी बात नहीं :स्वामी

  • PDF

जयपुर। पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि आज देश के सामने आतकंवाद, भ्रष्टाचार और महंगाई चुनौती बन गई है। इनसे मुकाबला करने के लिए जनता के अंदर देशभक्ति की भावना जगाना आवष्यक है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद अनेक प्रकार के है उनमें एक है जो विघटन नहीं करना चाहता लेकिन कब्जा करना चाहता है। आज का आतंकवाद माफी लायक नहीं है अगर पाकिस्तान में तालिबान की सरकार बनी तो भारत से युद्व निश्चित है जिसका हमें जवाब देना होगा। डा. स्वामी पिंकसिटी प्रेस क्लब में आयोजित समारोह में बहुभाषी संवाद समिति हिंदुस्थान समाचार की राजस्थान इकाई द्वारा प्रकाशित स्मारिका ‘‘भारतीय गणतंत्र के समक्ष चुनौतियां’ के लोकार्पण समारोह में बोल रहे थे।जन अभाव अभियोग निराकरण समिति राजस्थान के पूर्व अध्यक्ष सत्यनारायण गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में विशिष्ट अतिथि राजस्थान आवासन मण्डल के पूर्व अध्यक्ष अजयपाल सिंह तथा फोर्टी के  पूर्व अध्यक्ष आर.एस. जैमिनी विशिष्ट अतिथि थे। समारोह में डॉ.स्वामी ने भ्रष्टाचार पर बोलते हुए कहा कि इस मसले में मेरी केन्द्रीय गृहमंत्री पी.चिदम्बरम से कोई दुश्मनी नहीं है। उन्होंने कहा कि चिदम्बरम को पकड़ना बड़ी बात नहीं है वो बसंत पंचमी तक जेल होंगे। इसके साथ ही उन्होंने मुद्रास्फिति का भी भ्रष्टाचार से जुड़ाव बताते हुए महंगाई बढ़ने का कारण बताया । इस अवसर पर हिंदुस्थान समाचार की विषिष्ट सेवाओ के लिए वरिष्ठ पत्रकार श्याम सुंदर आचार्य, सीताराम झालानी, गुलाब बत्रा और केदार पुरोहित का शॉल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह देकर अभिनन्दन किया गया।

राज्य कर्म. की भी बल्ले बल्ले मंहगाई भत्ते में ७% वृद्घि

  • PDF

जयपुर, 25 मार्च । राज्य सरकार ने राज्य कर्मचारियों के मंहगाई भत्ते में 7 प्रतिशत की वृद्घि की है। वर्तमान में राज्य कर्मचारियों को मंहगाई भत्ता 58 प्रतिशत देय है, जिसे बढ़ाकर एक जनवरी, 2012 से केन्द्रीय कर्मचारियों के समान 65 प्रतिशत किया गया है। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने जब-जब भी केन्द्र सरकार द्वारा अपने कर्मचारियों के मंहगाई भत्ते में वृद्घि की घोषणा की है, तत्काल राज्य कर्मचारियों को भी इसका लाभ देने की परम्परा को निभाया है।
राज्य सरकार द्वारा बढ़े हुए 7 प्रतिशत मंहगाई भत्ते का लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित कर्मचारियों, पंचायत समिति, जिला परिषद के कर्मचारियों को भी देय होगा ।
एक जनवरी, 2012 से 31 मार्च, 2012 तक बढ़े हुए मंहगाई भत्ते की राशि सम्बन्धित कर्मचारियों के सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जाएंगी तथा एक अप्रेल, 2012 से नकद भुगतान किया जायेगा।
एक जनवरी, 2004 एवं उसके बाद नवनियुक्त राज्य कर्मचारियों को बढ़े हुए मंहगाई भत्ते का भुगतान नकद देय होगा।
राज्य के पेंशनरों एवं पारिवारिक पेंशनरों को वर्तमान में मूल पेंशन पर 58 प्रतिशत की दर से मंहगाई राहत का भुगतान देय है, उसे भी एक जनवरी, 2012 से बढ़ाकर 65 प्रतिशत किया जा रहा है। पेंशनरों एवं पारिवारिक पेंशनरों को बढ़ी हुई मंहगाई राहत का भुगतान नकद देय होगा।
राज्य कर्मचारियों एवं पेंशनरों को देय मंहगाई भत्ते एंव मंहगाई राहत में उक्त वृद्घि के फलस्वरूप राज्य सरकार पर अतिरिक्त वार्षिक वित्तीय भार लगभग 875 करोड़ रूपये होगा।
मंहगाई भत्ते और मंहगाई राहत में वृद्घि से लगभग 7 लाख कर्मचारी एवं लगभग 3 लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे।

भट्ट को ‘‘कलम का सिपाही पुरस्कार’’ अवार्ड

  • PDF

जयपुर, 25 मार्च। राजस्थान सूचना केंद्र, नई दिल्ली के संयुक्त निदेशक श्री गोपेन्द्र नाथ भट्ट को जनसपंर्क के क्षेत्र में उल्लेखनीय सेवाओं के लिए प्रतिष्ठित भंवर सुराणा पत्रकारिता अवार्ड ‘‘कलम का सिपाही पुरस्कार’’ प्रदान कर सम्मानित किया गया है।
अवार्ड समिति द्वारा गोपेन्द्र नाथ भट्ट (जी.एन.भट्ट) का चयन राजस्थान के आदिवासी अंचल, प्रदेश एवं राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर विगत तीन दशकों में जनसंपर्क के क्षेत्र में अतिविशिष्ट पहचान बनाने और पत्रकारिता के उच्च मानदंड स्थापित करने के लिए किया गया। इस पुरस्कार की शुरूआत राजस्थान के वरिष्ठ पत्रकार दिवगंत श्री भंवर सुराणा की स्मृति में की गई है। इस वर्ष चार अन्य लब्ध प्रतिष्ठित पत्रकारों को भी यह अवार्ड प्रदान किया गया है।
भंवर सुराणा स्मृति समारोह की संयोजक श्रीमती शकुंतला सरूपरिया ने बताया कि स्वर्गीय भंवर सुराणा की स्मृति में ’’वर्तमान समय में पत्रकारिता की चुनौतियॉं ’’ विषयक व्याख्यान माला का आयोजन भी किया गया, जिन्हे देश-प्रदेश के प्रतिष्ठित वरिष्ठ पत्रकारों ने सम्बोधित किया।

फसल बीमा-योजना के तहत भी राहत

  • PDF

जयपुर, 25 मार्च। राज्य में मौसम आधारित फसल बीमा योजना के तहत बीमित काश्तकारों की खराब हो चुकी फसलों के लिये उन्हें 362 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाना संभावित है। यह राशि किसानो को पाले एवं शीतलहर के लिये राज्य सरकार द्वारा दिये गये 200 करोड़ रुपए के राहत पैकेज के अतिरिक्त है।
राज्य सरकार द्वारा 200 करोड़ रुपये के अलावा फसल बीमा योजना के तहत 128 करोड़ रुपए की प्रीमियम राशि का भुगतान 4 बीमा कम्पनियों को पहले ही किया जा चुका है तथा इतनी ही राशि (128 करोड़ रु)प्रीमियम के रूप में केन्द्र सरकार द्वारा भी उपलब्ध कराई गई है।
काश्तकारों द्वारा अब तक प्राप्त सूचना के अनुसार 96.04 करोड़ रुपए की राशि प्रीमियम के रूप में जमा कराई गई है, इसके विरूद्घ चार गुणा मुआवजा लगभग 362 करोड़ राशि का देना तय हो चुका है।

चार जिलों के 771 गांव अभावग्रस्त घोषित

  • PDF

जयपुर, 25 मार्च। राज्य सरकार ने एक अधिसूचना जारी कर राज्य के चार जिलों के 771 गांवों को अभावग्रस्त घोषित किया है। अधिसूचना के तहत जिला कलेक्टर्स से प्राप्त गिरदावरी रिपोर्ट सम्वत् 2068 के आधार पर चूरू जिले के 688, बीकानेर के 43, जैसलमेर के 33 एवं दौसा जिले के 7 गांवों को अभावग्रस्त घोषित किया है। राजस्थान एफेक्टेड एरियाज (संस्पेंशन ऑफ प्रोसिडिंग्स) एक्त 1952 की धारा पांच से दस तक के प्रावधान प्रभावित गांवों में 15 जुलाई 2012 तक लागू रहेंगे।